Sanjay Yadav gets interim bail from High Court

संजय यादव को हाइकोर्ट से मिली अंतरिम जमानत

By Prabhat Khabar | Updated Date: Jun 16 2017

Stoppage of warrant and attachment proceedings

वारंट व कुर्की की कार्रवाई पर भी लगायी रोक

Kurt asks police to respond within three weeks
काेर्ट ने पुलिस से तीन सप्ताह के अंदर मांगा जवाब
Banka: Sanjay Yadav, former MLA of Godda, accused of coloring and assault case, with intercourse of bottling plant construction agency has got interim bail granted to Patna High Court by his interim bail. It is being told that the former MLA had filed his anticipatory bail petition on Thursday in Patna court.
बांका : Kharhara बॉटलिंग प्लांट निर्माण एजेंसी के संवेदक के साथ रंगदारी व मारपीट मामले के आरोपित गोड्डा के पूर्व विधायक संजय यादव व उनके भतीजे जामुन यादव की अंतरिम जमानत पटना हाइकोर्ट ने मंजूर कर ली है. बताया जा रहा है कि पूर्व  विधायक ने पटना कोर्ट में गत गुरुवार को ही अपनी अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी.
In this case, on Thursday, the court approved the anticipatory bail application of the former MLA while demanding a diary from the Banka police on Thursday. At the same time, the prosecutor’s warrant and attachment on the pre-legislator has also been banned. Along with the court, the Banka Police
Sanjay Yadav …
इस मामले में कोर्ट ने गुरुवार को बांका पुलिस से डायरी की मांग करते हुए पूर्व विधायक के अग्रिम जमानत याचिका को मंजूर कर लिया. साथ ही  पूर्व विधायक के ऊपर पुलिस की वारंट व कुर्की आदि कार्रवाई पर भी रोक लगा दी गयी है. साथ ही कोर्ट ने बांका पुलिस
संजय यादव को…
Has been asked to reply within three weeks of continuous action of the former legislator. The court also granted interim bail to the former legislator’s nephew Jamun Yadav on Wednesday, and on all the action of the police has been banned.
को पूर्व विधायक के ऊपर की जा रही ताबड़तोड़ कार्रवाई का तीन सप्ताह के अंदर जवाब देने को भी कहा है. वहीं पूर्व विधायक के भतीजा जामुन यादव का भी कोर्ट ने अंतरिम जमानत बुधवार को मंजूर कर लिया था व उनके ऊपर भी पुलिस की सभी तरह की कार्रवाई पर रोक लगा दी गयी है.
Court hoped for justice
Former MLA’s wife Kalpana Devi told that she was expecting justice from the court. He has demanded a fair investigation from the DIG and Banka SP in this case. Simultaneously, he also believed in the Banka police. In case of impartial investigation, her husband and other accused will be totally acquitted. He respected justice from the High Court and said that after fair investigation, milk in all cases will be milk and water will be water.
कोर्ट से न्याय की उम्मीद थी
पूर्व विधायक की पत्नी कल्पना देवी ने बताया कि उन्हें कोर्ट से न्याय की उम्मीद थी. उन्होंने डीआइजी व बांका एसपी से इस मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है. साथ ही बताया कि बांका पुलिस पर भी उन्हें भरोसा है. निष्पक्ष जांच होने पर उनके पति व अन्य आरोपित पूर्णत: बरी हो जायेंगे. हाइकोर्ट से मिली न्याय का उन्होंने सम्मान करते हुए कहा कि निष्पक्ष जांच के बाद सभी मामलों में दूध का दूध व पानी का पानी हो जायेगा.