बांका पहुंचकर बोले मुख्यमंत्री, बालू  माफियाओं पर कार्रवाई न करने वाले अधिकारी होंगे बर्खास्त।

बांका पहुंचकर बोले मुख्यमंत्री, बालू  माफियाओं पर कार्रवाई 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खनन माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाने का खुले मंच से निर्देश दिया। बांका जिले के उच्च विद्यालय अमहारा में आयोजित जनसभा में उन्होंने कहा कि बांका में हो रहे बालू के अवैध खनन की उन्हें भी जानकारी है। डीएम और एसपी इसे रोकें। चाहें कोई भी हो, कार्रवाई करें, वरना संबंधित अधिकारी पर ही कार्रवाई की जाएगी।
सीएम के भाषण के दौरान भीड़ में कुछ लोगों ने हाथ में तख्ती लेकर बालू के अवैध खनन और ओवरलोडिंग के खिलाफ प्रदर्शन भी किया। यह देखकर सीएम ने डीएम और एसपी को पुलिस मुख्यालय के कंट्रोल रूम व जिले के कंट्रोल रूम के नंबर को सार्वजनिक करने का भी निर्देश दिया, ताकि आम लोग भी प्रशासन को सही समय पर सूचना दे सकें। उनका नाम गुप्त रखा जाएगा।

 


इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने रजौन में 35 करोड़ की लागत से बने बांका जिले के पॉलीटेक्निक कॉलेज का उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने मंच से रिमोट के जरिए 77 करोड़ की लागत से बांका जिले की डेढ़ लाख की आबादी के लिए हर घर नल से पेयजल की आपूर्ति की विभिन्न योजनाओं का भी शुभारंभ किया और 40 मिनट के संबोधन में अपने सात निश्चय को फिर से दोहराया।
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार के हर जिले में इंजीनियरिंग एवं पॉलीटेक्निक कॉलेज होंगे। आज पढ़ाई के बिना कोई आगे नहीं बढ़ सकता। उन्होंने सभी अभिभावकों से बेटे-बेटियों को पढ़ाने का आह्वान किया। कहा-जो पढ़ेगा, वही बढ़ेगा। उन्होंने अपने भाषण में पढ़ाई और शराबबंदी पर सबसे अधिक फोकस किया। शराबबंदी की चर्चा करते हुए कहा कि बिहार में शराबबंदी की चर्चा देश ही नहीं, विदेशों में भी हो रही है। बेटे-बेटियों को पढ़ाने और शराबबंदी में सहयोग मांगने पर भीड़ ने भी हाथ उठाकर समर्थन किया। इस मौके पर पीएचईडी मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, उद्योग सह विज्ञान प्रौद्यौगिकी मंत्री जय कुमार सिंह, राज्यसभा सांसद कहकशां परवीन, विधायक और अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

[huge_it_forms id=”1″]